Saturday, December 4, 2010

भावांजलि

रूखा-सूखा था यह जीवन
मरुथल में तुम जल बन आये !
कर्मों के बंधन में जकड़े,
अंतर्मन में मुक्ति लाए !
दीन-हीन मन कृपण बना जब
हे दयालु ! तुम कृपा बहाते,
धूल कामना की न ढक ले
ज्ञान ज्योति उर में जलाते !



मरुथल सा उर, पाहन सा मन
बरसो गहन ! रसधार बहा दो
वज्रनाद कर तड़ित ज्वाल बन
झंझावात से दिल दहला दो !

11 comments:

  1. क्या बात है,कितनी खूबसुरती से लिखा है आपने।बहुत ही उम्दा रचना है।मै भी कविता लिखता हूँ।मेरा ब्लाग हैः‍ः"काव्य कल्पना"...आप आये और मेरा मार्गदर्शन करे।लिंक हैःःhttp://satyamshivam95.blogspot.com

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर....

    ReplyDelete
  3. बहुत अच्छा लगा आपके ब्लाग पर आकर ।आप भी अन्य के ब्लाग पढें और अपने विचार लिखें!

    ReplyDelete
  4. इस नए और सुंदर से चिट्ठे के साथ हिंदी ब्‍लॉग जगत में आपका स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  5. ब्लाग जगत की दुनिया में आपका स्वागत है। आप बहुत ही अच्छा लिख रहे है। इसी तरह लिखते रहिए और अपने ब्लॉग को आसमान की उचाईयों तक पहुंचाईये मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ
    ‘‘ आदत यही बनानी है ज्यादा से ज्यादा(ब्लागों) लोगों तक ट्प्पिणीया अपनी पहुचानी है।’’
    हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

    मालीगांव
    साया
    लक्ष्य

    हमारे नये एगरीकेटर में आप अपने ब्लाग् को नीचे के लिंको द्वारा जोड़ सकते है।
    अपने ब्लाग् पर लोगों लगाये यहां से
    अपने ब्लाग् को जोड़े यहां से

    कृपया अपने ब्लॉग पर से वर्ड वैरिफ़िकेशन हटा देवे इससे टिप्पणी करने में दिक्कत और परेशानी होती है।

    ReplyDelete
  6. सुन्दर रचना ! साधुवाद स्वीकार करें.

    ReplyDelete
  7. sarwparthm....thnks for ur suggest...madam,i m an engineering std.sangeet aur kavita mujhe godgifted hai..mai bas do pal me kisi v topic par likh sakta hu....matr 6 mnth me maine 300 kavitaye likhi jo ek se ek hai..blogg par bas maine kuch kavitawo ki kuch panktiya di hai...jald hi meri book publish hone wali hai...plz aap apna sahyog yu hi deti rahe....apna email mujhe de.....i will keep contact with u.....thnks

    ReplyDelete
  8. ब्लागजगत में आपका स्वागत है. शुभकामना है कि आपका ये प्रयास सफलता के नित नये कीर्तिमान स्थापित करे । धन्यवाद...

    आप मेरे ब्लाग पर भी पधारें व अपने अमूल्य सुझावों से मेरा मार्गदर्शऩ व उत्साहवर्द्धऩ करें, ऐसी कामना है । मेरे ब्लाग जो अभी आपके देखने में न आ पाये होंगे अतः उनका URL मैं नीचे दे रहा हूँ । जब भी आपको समय मिल सके आप यहाँ अवश्य विजीट करें-

    http://jindagikerang.blogspot.com/ जिन्दगी के रंग.
    http://swasthya-sukh.blogspot.com/ स्वास्थ्य-सुख.
    http://najariya.blogspot.com/ नजरिया.

    और एक निवेदन भी ...... अगर आपको कोई ब्लॉग पसंद आवे तो कृपया उसे अपना समर्थन भी अवश्य प्रदान करें. पुनः धन्यवाद सहित...

    ReplyDelete
  9. बहुत सुन्दर रचना है आप की, बहुत सारगर्भित बात कहा है आप ने |
    बहुत - बहुत शुभकामना

    ReplyDelete
  10. " भारतीय ब्लॉग लेखक मंच" की तरफ से आप, आपके परिवार तथा इष्टमित्रो को होली की हार्दिक शुभकामना. यह मंच आपका स्वागत करता है, आप अवश्य पधारें, यदि हमारा प्रयास आपको पसंद आये तो "फालोवर" बनकर हमारा मनोबल अवश्य बढ़ाएं. साथ ही अपने सुझावों से हमें अवगत भी कराएँ, ताकि इस मंच को हम नयी दिशा दे सकें. धन्यवाद . आपकी प्रतीक्षा में ....
    भारतीय ब्लॉग लेखक मंच

    ReplyDelete